Albert Einstein के मस्तिष्क की यात्रा हिंदी में।

Albert Einstein के मस्तिष्क की यात्रा हिंदी में।
Albert Einstein के मस्तिष्क की यात्रा हिंदी में।

यह स्वाभाविक लगता है कि Genius यानी प्रतिभाशाली भौतिक संरचना में निहित है, इसलिए यदि हम Albert Einstein के मस्तिष्क के अंदर गहरी जांच करते हैं तो क्या होगा?  क्या हम Genius के रहस्यों को अनलॉक कर सकेंगे, या साधारण दिमाग को बदलकर प्रतिभाशाली दिमाग बना सकेंगे। हम उत्तर देने में लगभग असमर्थ होंगे परंतु एक व्यक्ति का मानना था कि यह संभव हो सकता है और उसने इसे साबित करने के लिए अपना सब कुछ जोखिम में डाल दिया।

डॉ. Thomas Stoltz Harvey जो की पेशे से एक पैथोलॉजिस्ट यानी चिकित्सक थे। एक ऐसा व्यक्ति जो प्रतिभाशाली पैदा नहीं हुआ था पर जब उसे एक प्रतिभाशाली व्यक्ति मिला तो उसने Genius के रहस्यों को जानने के लिए उसके दिमाग को चुरा लिया।

बुद्धिमानी के सुपरस्टार Einstein –

बुद्धिमानी के सुपरस्टार Albert Einstein की मृत्यु 18 अप्रैल 1955 के रात 1:15 पर हुआ था, और Einstein के मृत्यु के कारण का पता लगाने का कार्य Thomas  Harvey को सौंपा गया परंतु Harvey के मन में कुछ और ही चल रहा था, Harvey अल्बर्ट आइंस्टीन का जीनीयस होने का पता लगाना चाहता था , इस प्रकार डॉक्टर Harvey ने आइंस्टीन के दिमाग को निकालकर उस पर शोध करने का मन बना लिया और बीसवीं सदी के सबसे महान वैज्ञानिक के मस्तिष्क की जांच करना शुरू कर दिया।

हालांकि Albert Einstein कभी ऐसा नहीं चाहते थे कि उनके मृत्यु के बाद उनके शरीर का वैज्ञानिक जांच हो, वह केवल चाहते थे कि उनके विज्ञान के प्रति योगदान को लोग याद रखें और उनके खोजो पर शोध करें ना कि उनके शरीर पर इसके बाद भी Harvey आइंस्टीन के परिवार के अनुमति के बिना ही आइंस्टीन के मस्तिष्क को निकाल लिया और उसे अपने लंच बॉक्स में रख कर चोरी से अपने घर ले आया।

Einstein का परिवार अचंभित

इधर Einstein का परिवार अचंभित था सारे सरकारी अधिकारी एवं Harvey के सहकर्मी आइंस्टीन के मस्तिष्क की मांग करने लगे परंतु जब Harvey ने कसम खाया कि वह मस्तिष्क का उपयोग केवल वैज्ञानिक अनुसंधान के लिए ही करेगा तब आइंस्टीन के बेटे ने Harvey को एक ऐसा करने की अनुमति दे दी और इस प्रकार Harvey आइंस्टीन के मस्तिष्क का संरक्षक बन गया, अब उसे आइंस्टीन के शानदार दिमाग के रहस्य को अनलॉक करना था।

लेकिन Harvey एक रोग विज्ञानी था neuroscientist नहीं। परंतु फिर भी Harvey मस्तिष्क की जांच प्रारंभ करते हुए मस्तिष्क को छोटे-छोटे टुकड़ों में काट कर एक साधारण माइक्रोस्कोप से उसकी जांच करना प्रारंभ कर दिया, “ठीक इसी प्रकार 1924 में जब सोवियत यूनियन के संस्थापक Vladimir Lenin की मृत्यु हुई थी तो रूसी यह जानने के लिए बेताब थे कि Lenin के मस्तिष्क में ऐसा क्या था जो उन्हें एक Genius बनाया।

इससे जानने के लिए रुसी, neuroscientist Oskar Vogt के साथ  Lenin के ब्रेन पर शोध करने के लिए एक इंस्टिट्यूट खोला और शोध में पाया कि Lenin के बुद्धिमान होने का कारण उनके मस्तिष्क के cerebral cortex के तीसरी परत में कुछ पिरामिड न्यूरॉन्स बहुत बड़े थे।”  मॉस्को के मस्तिष्क संस्थान की तुलना में हार्वे की सुविधाएं बुनियादी थी और इस प्रकार साल दर साल बीत गए पर Harvey अपना वादा पूरा करने में असमर्थ था।

इसी बीच इस मस्तिष्क के कारण Harvey के पारिवारिक संबंध खराब होते जा रहे थे, और Harvey ने अपने अध्यक्षता के लिए अपने परिवार तक को छोड़ दिया और 1960 में प्रिंसटन शहर को भी छोड़ दिया और फिर एक शहर से दूसरे शहर और एक नौकरी से दूसरी नौकरी दूसरी शादी फिर तीसरी आखिरकार अंत में Harvey के मेडिकल लाइसेंस को रद्द कर दिया गया और उसके बाद Harvey ने एक प्लास्टिक के फैक्ट्री में काम करने लगा। लेकिन अबतक Harvey ने आइंस्टीन के दिमाग के रहस्यों को समझने में कोई प्रगति नहीं कर पाया था।

आखिरकार Harvey को स्वीकार करना पड़ा कि वह दिमाग के रहस्य को खोजने में सक्षम नहीं है और असमर्थ है, और फिर अंत में Harvey, Albert Einstein के दिमाग को Berkeley में neuroscientist के पास भेज दिया, वहां वैज्ञानिकों ने आइंस्टीन के दिमाग में Glial कोशिकाओं की मात्रा किसी आम इंसान से ज्यादा पाया “Glial कोशिकाएं मस्तिष्क में सहायता और पोषण प्रदान करती है सिगनल ट्रांसमिशन में भाग लेती है और न्यूरॉन्स के अलावा यह मस्तिष्क का एक अभिन्न अंग है। “

Albert Einstein हमेशा कहते थे कि वे अपने समस्याओं को अपने दिमाग में कल्पना करके हल करते हैं।

तो क्या दिमाग में अतिरिक्त Glial कोशिकाएं होने से हम अपने कल्पना शक्ति को बढ़ा सकते हैं? क्या Glial कोशिकाएं आइंस्टीन के Genius होने का रहस्य है? या शायद नहीं।

1996 में आखिरकार Albert Einstein का दिमाग princeton hospital वापस पहुंच गया, जहां से Harvey ने 41 साल पहले इसे चुराया था।  खुद Harvey भी princeton लौट आया और यहीं पर Harvey की मृत्यु हुई।  Harvey Genius के दिमाग के रहस्यों को कभी अनलॉक नहीं कर पाया।  लेकिन अगर कोई एक दिन ऐसा करता है तो क्या वह Harvey को सही साबित करेगा?