चार्ल्स-ऑगस्टिन डी कूलम्ब (1736-1806), जब वह इंजीनियरों के लेफ्टिनेंट जनरल थे 1894 में लुइस हाइरेल द्वारा पोर्ट्रेट।
चित्र 1: चार्ल्स-ऑगस्टिन डी कूलम्ब (1736-1806), जब वह इंजीनियरों के लेफ्टिनेंट जनरल थे 1894 में लुइस हाइरेल द्वारा पोर्ट्रेट।

चार्ल्स ऑगस्टिन डी कूलम्ब Charles Augustin de Coulomb एक फ्रांसीसी भौतिक विज्ञानी थे, जिन्हें कूलम्ब का नियम (Coulomb’s Law), आकर्षण और प्रतिकर्षण के इलेक्ट्रोस्टैटिक बल (electrostatic force of attraction और repulsion) जैसे खोजों के लिए जाना जाता हैं। 1908 में electric charge की SI unit – “coulomb” को उनके सम्मान में नामित किया गया था। निचे उनके विषय मे विस्तार से जाने।


Coulomb का प्रारंभिक जीवन

जन्म

Charles Augustin de Coulomb का जन्म फ्रांस के एक गांव Angoumois में 14 जून 1736 में हुआ था। Henry Coulomb उनके पिता थे, और Catherine Bajet उनकीं माता थीं।

शिक्षा

Charles Coulomb की प्रारंभिक शिक्षा पेरिस में ही शुरू हुई थी, जहाँ उनके पिता रहा करते थे। Charles Coulomb ने पेरिस के College Mazarin से philosophy, language और literature के साथ mathematics, astronomy, chemistry and botany जैसे विषयों में शिक्षा प्राप्त की। 1761 में वे रॉयल इंजीनियरिंग स्कूल ऑफ मेज़िएरेस से ग्रेजुएट हुए।

करियर

ग्रेजुएशन पूरा करने के बाद उन्होंने विभिन्न स्थानों पर नौकरियां की जिसमें engineering, structural, fortifications, soil mechanics तथा अन्य engineering स्थान शामिल थे।

1764 में वे वेस्टइंडीज भेज दिए गए, जहाँ उन्हे Fort Bourbon बनाने का कार्य सौंपा गया। इस दौरान उन्हें अपने स्वास्थ्य को लेकर असफलताओं का सामना करना पड़ा, जिसने उन्हें जीवन भर प्रभावित किया। Fort Bourbon का कार्य पूरा करने के बाद वे 1772 में फ्रांस वापस लौट आए और applied mechanics पर शोध करना शुरू कर दिया।

और 1773 में उन्होंने अपने कार्य को पेरिस में स्थित Academie des Sciences में प्रस्तुत किया। उनके कार्य को बहुत लोगों ने सराहा। 1776 में वे पेरिस आए तथा एक छोटी सी संपत्ति बनाकर एकांत में अपना शोध कार्य करने लगे। फोर्स के परिमाण को मापने के लिए उन्होंने एक torsion balance का आविष्कार किया और इसका प्रयोग उन्होंने छोटे आवेशित गोलों के बीच लगने वाले आकर्षण अथवा प्रतिकर्षण बलों को ज्ञात किया।

1779 में Charles Coulomb, Rochefort भेज दिए गए, जहाँ उन्हें एक किले का निर्माण करने के लिए नियुक्त किया गया। Rochefort में अपने अवधि के दौरान Coulomb ने अपने प्रयोगों पर शोध करना जारी रखा और अपने प्रयोगों के लिए प्रयोगशालाओं के रूप में Rochefort में शिपयार्ड का उपयोग किया।

फ्रांस वापस लौटने के बाद उन्होंने electric charges के प्रभाव और इसके दूरी के वर्ग के बीच Forces के संबंध की खोज की, और फिर चुंबकीय ध्रुव के बीच एक समान संबंध को भी पहचाना।

उनके इन खोजों को आधुनिक युग मे Coulomb’s Law के नाम से जाना जाता है। भौतिक विज्ञान में Coulomb के नियम का बहुत महत्व है।

Advertisement, continue reading

Coulomb’s Law

Coulombs Law
Coulomb’s Law: electric charges के प्रभाव और इसके दूरी के वर्ग के बीच Forces के संबंध।

सम्मान

वजन और उपायों के नए निर्धारण में भाग लेने के लिए उन्हें एक समय के लिए पेरिस में वापस बुलाया गया था, जिसे उस समय के क्रांतिकारी सरकार द्वारा लागू किया गया था। वे फ्रेंच नेशनल इंस्टीट्यूट के पहले सदस्यों में से एक बने और उन्हें 1802 में सार्वजनिक निर्देश का निरीक्षक भी नियुक्त किया गया।

Coulomb ने दीवार डिजाइन अपने योगदान के लिए भू-तकनीकी इंजीनियरिंग के क्षेत्र में अग्रणी के रूप में एक विरासत छोड़ी है। उनका नाम Eiffel Tower पर अंकित 72 नामों में से एक है।

मृत्यु

स्वास्थ्य खराब रहने के कारण पेरिस में उनका निधन हो गया। विज्ञानं मे उनके योगदान के लिए दुनिया उन्हे हमेशा याद रखेगी।


स्त्रोत


इस लेख के प्रकाशन की तिथि: 17 अगस्त, 2019 और अंतिम संशोधित(modified) तिथि: 6 नवम्बर, 2020

लेख पर टिप्पणी करें